मुख्यमंत्री का स्कूटी प्रदान करने का कार्यक्रम:शहडोल के लिए सीएम शिवराज ने तीन महत्वपूर्ण घोषणाएं की, स्कूटी पाकर खुश हुए मेधावी छात्राएं

67

मुख्यमंत्री का स्कूटी प्रदान करने का कार्यक्रम:शहडोल के लिए सीएम शिवराज ने तीन महत्वपूर्ण घोषणाएं की, स्कूटी पाकर खुश हुए मेधावी छात्राएं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शहडोल का एक दिवसीय दौरा किया था। इस दौरान मुख्यमंत्री जनदर्शन यात्रा में भाग लिया। गांधी चौक से पॉलिटेक्निक मैदान के बीच चार दर्जन स्थानों पर सीएम शिवराज सिंह का स्वागत किया गया था। यात्रा के बाद मुख्यमंत्री ने शहडोल के पॉलिटेक्निक मैदान पर स्कूटी वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। स्कूटी मिलने पर बच्चे प्रसन्न दिखे। साथ ही विभिन्न विकास परियोजनाओं का डिजिटल शिलान्यास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने शहडोल को तीन बड़ी घोषणाएं कीं।

15 किलोमीटर की दूरी कम हुई

शासकीय मॉडल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की छात्रा अंकिता पांडेय ने बताया कि मेरे प्रिंसिपल सर ने मुझे पहली बार स्कूटी मिलने की बात बताई तो मुझे यकीन नहीं हो रहा था। मैं शाक्ड हो गया था। आज मैं मुख्यमंत्री के हाथों स्कूटी पाया हूँ। मेरी कॉलेज की पढ़ाई इसके मिलने से आसान हो गई। कॉलेज मेरे घर से १५ किमी दूर है। स्कूटी मिलने से अब कॉलेज से घर का सफर आसानी से तय कर सकूंगा।

स्कूटी मिलने से खुश हूँ।

बाणसागर हाई स्कूल में पढ़ाई करने वाली गौरी सिंह स्कूटी मिलने से बहुत खुश है। गौरी बताती हैं कि कॉलेज उनके घर से तीन किलोमीटर दूर है। स्कूटी प्राप्त करने से अब आगे की पढ़ाई अधिक सुविधाजनक हो गई है। मेरा सपना था स्कूटी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी मामा को धन्यवाद दिया।

सुविधाएं बढ़ने से मैं बहुत खुश हूँ।

बाणसागर हाई स्कूल के विद्यार्थी अर्जुन सिंह भी सीएम से स्कूटी मिलने से बहुत खुश हैं। उनका कहना था कि मेरे मामा ने मेरे साथ राज्य के 7,800 विद्यार्थियों को स्कूटी दी है। मैं खुद का चुनाव करने को उत्साहित हूँ। मामा ने हमारे उद्देश्यों और सुविधाओं को बढ़ा दिया है। हम उनका आभार व्यक्त करते हैं और उम्मीद करते हैं कि वह आगे भी ऐसा ही करेंगे।

प्रदेश की प्रतियोगिता परीक्षा

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने चुहिरी हाई स्कूल से कक्षा 12 की परीक्षा पास करने वाले विद्यार्थी अनिल मिश्रा को भी स्कूटी दी है। अर्जुन ने 85 % अंक हासिल किए हैं। अर्जुन ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री शिवराज को अभिवादन देता हूँ। प्रदेश में भी ऐसी प्रतियोगी परीक्षाएं होनी चाहिए। इससे विद्यार्थियों का उत्साह बढ़ता है। हम मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हैं।

CM ने तीन महत्वपूर्ण घोषणा की

CM ने कहा कि शहडोल को विकसित करने के लिए अब लालपुर हवाई पट्टी में एयरपोर्ट बनाया जाएगा। लोगों को एक सुविधाजनक एयरपोर्ट मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नागपुर एयरपोर्ट और सीधी ट्रेन भी जल्द शुरू होगी। प्रधानमंत्री और रेल मंत्री को इसके लिए बधाई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहडोल नगर पालिका को नगर निगम बनाया जाएगा। शहडोल को आगे बढ़ाने के लिए यह आवश्यक है। शहडोल का मुख्यमंत्री मैं हूँ। शहडोल में एक अतिरिक्त शिक्षण संस्थान खोला जाएगा। यहां महाविद्यालय को विश्वविद्यालय बनाया गया। इसलिए यहां एक नया विश्वविद्यालय खोला जाएगा।

सीएम: मैं जनता को परिवार मानता हूँ

सभा को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि मैं आपको राज्य की जनता नहीं बल्कि अपना परिवार मानता हूँ। स्कूटी बांटने से पहले बच्चों को बताया गया था कि पहले गाड़ी चलाना सिखना होगा, फिर फिर गाड़ी चलाना होगा। माँ-बाप की बात सुनें। मुख्यमंत्री और कलेक्टर बनने के लिए पढ़ना पड़ेगा। मामा के राज में आपको कोई चिंता नहीं है।

CM Raise स्कूल में स्विमिंग पूल बनेगा

सीएम ने कहा कि मैं सीएम राइज स्कूल बना रहा हूं, आप पढ़ो। प्राइवेट संस्थाओं से बेहतर बना रहा हूँ। यह भी एक स्विमिंग पूल होगा, जहां गरीबों के बेटा बेटी तैरेंगे। सिर्फ अमीरों के पास कुछ है। CM Rise स्कूल बस आपको अपने गांव तक ले जाएगा। 27 अगस्त को एक बजे मैं आपसे बात करूँगा. कृपया सुनना।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने बहनों को धन देकर उनका सम्मान बढ़ा दिया है। अब सासु मां कहती होगी कि बहु की रोटी में भी घी डाल दो। मैं पैसे के इंतजाम के लिए लगा हूँ, और जैसे ही पैसे मिलेंगे, मैं राशि बढ़ा दूंगा। मैं खुश रहूँगा जब तक पैसा नहीं बढ़ेगा।

कार्यक्रम में सीएम जल्दबाजी में दिखे

जन दर्शन यात्रा में सीएम शिवराज सिंह चौहान जल्दबाजी दिखी क्योंकि वे कार्यक्रम में देरी से पहुंचे थे। मुख्यमंत्री दमोह की बैठक के कारण वे नहीं रुके, हालांकि कई बार उनके रुकने की व्यवस्था की गई थी। CM ने खुद माइक को बताया कि सभी जल्दी चलें क्योंकि मुझे अभी दमोह जाना है।

 

अम्बेडकर की प्रतिमा का सम्मान

सीएम शिवराज को अम्बेडकर चौक पर अम्बेडकर की प्रतिमा का माल्यार्पण करना था, लेकिन उनके पास पर्याप्त समय नहीं था। रथ से ही प्रणाम करके वे आगे बढ़े।

जनदर्शन यात्रा में दिखाई देने वाली व्यवस्था

यह गांधी चौक से पॉलिटेक्निक तक चलते हैं। यात्रा में मुख्यमंत्री ने अव्यवस्था का सामना किया। उन्हें गांधी चौक पर खुद माइक से निर्देश देना पड़ा। वहीं जनता के अनुरोध उनके पास नहीं पहुंच पा रहे थे। इसलिए उन्हें मंच से भी इस बारे में बताना पड़ा कि आवेदन उन तक पहुंचे।

 

Previous articleBJP ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए कमर कसी , जेपी नड्डा ने नई टीम बनाई, रमन सिंह-वसुंधरा राजे बने उपाध्यक्ष
Next articlePM Modi Election 2023: आज गुना में गूंजेगा मोदी-मोदी, सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद; इन रास्तों पर जाने से बचें
Ashok Kumar Gupta
KnowledgeAdda.Org On this website, we share all the information related to Blogging, SEO, Internet,Affiliate Program, Make Money Online and Technology with you, here you will get the solutions of all the Problems related to internet and technology to get the information of our new post Or Any Query About any Product just Comment At Below .